बेहतर आदतें बेहतर इंसान बनाती हैं | VentAllOut blog

आज के दौर में जब रोजमर्रा की जिंदगी में प्रतिस्पर्धा बढ़ रही है। लोगों पर काम का बोझ बढ़ रहा है। तो ऐसे में तनाव और कई मानसिक बीमारियां भी बढ़ रहीं हैं। सर्वे बताते हैं कि ज्यादतर कामकाजी व्यक्तियों में पूरे समय अपने काम और लक्ष्य को लेकर दबाव बना रहता है। तो साथ ही युवा पीढ़ी भी अपने लक्ष्यों व सपनों को लेकर काफी दबाव में रहती है। तो ऐसे में यही अनुमान लगाया जा सकता है कि ज्यादातर इंसान किसी-न-किसी बीमारी से ग्रसित होंगे। वैसे माना  जाता है कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ दिमाग़ निवास करता है, लेकिन आज न तो शरीर ही स्वस्थ है और ना ही दिमाग। यहां यह भी जानना जरूरी है कि संतुलित और स्वस्थ शरीर ही हर प्रतिस्पर्धा में विजय होता है और लक्ष्य को प्राप्त करता है। और स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी है कि हमारी आदतें बेहतर हों। हमेशा याद रखिये कि अच्छा इसांन बनना एक प्रक्रिया है जो लगातार चलती रहती है। यदि आप बहुत जल्दी तनावग्रस्त हो जाते हैं तो आपको इस पर कंट्रोल करना सीखना होगा। जिन हालात और लोगों को आप बदल नहीं सकते, उसके बारे में सोचकर स्ट्रेस लेने की बजाए उसे नजरअंदाज करना सीखिए। यदि आपको नहीं पता कि सामने वाला किन परिस्थितियों से गुजरा है या गुजर रहा है। उसका बैकग्राउंड क्या है? ये भी याद रखें कि जो जैसा दिखता है, वह वैसा ही हो, ऐसा जरूरी नहीं। बाहरी आवरण देख राय बनाना सही नहीं होता। लोगों को समझने में समय लें। इससे सबसे बडा प्रभाव आपके खुद के ऊपर पड़ेगा क्योंकि आप धीरे-धीरे चीजों को पॉजिटिव वे में लेना या देखना शुरू कर देंगे। जीवन में अच्छा इंसान बनने के लिये ’मैं’ से ऊपर उठकर ‘हम’ के बारे में सोचिए।

ज्यादातर सफल लोग खुद को शांत रखने के लिए या तो मेडिटेशन करते हैं या फिर उन चीजों को खुद से दूर कर देते हैं, जो उनका ध्यान भटकाती हैं। साथ ही यह बात भी सही है कि, सुकून या आराम हमेशा उन्हीं लोगों को मिलता है जो जिंदगी में व्यवस्थित रहने की कोशिश करते हैं। आप मुश्किल वक्त में लंबी और गहरी सांस लेकर अपनी जिंदगी में काफी कुछ बदल सकते हैं। यह बात भी सही है कि यदि आप अपने किसी भी कार्य की शुरुआत करने से पहले प्रॉपर प्लानिंग करते हैं तो धीरे-धीरे जीवन काफी व्यवस्थित होता चला जाएगा। बेहतर और संतुलित इंसान बनने की शुरुआत डाइट, एक्सरसाइज और हाइजीन से भी है, ये सभी सफल लोगों की आदतों में हमेशा ही शामिल होती हैं। कुछ लोगों के लिए, पर्सनल केयर में बेहद जटिल और अनुशासित दिनचर्या या लाइफ स्टाइल रूल्स शामिल होते हैं। इसके अलावा प्रयास करें कि अपने व्यस्ततम समय में से खुद को मोटिवेट करने, खुद की हॉबीज पर कार्य करने का प्रयास करें। कोई भी टास्क पूरा न होने या लक्ष्य प्राप्त न होने पर निराश होने के स्थान पर प्रयास कीजिये। खुद के आत्मविश्वास को कभी भी कम मत होने दीजिये। हमेशा उम्मीद की लौ अपने अंदर जला कर रखिए, एक उम्मीद का दरवाजा बंद होने पर कई छोटे-छोटे रास्ते खुल जाते हैं; अतः खुद को हर समय बेहतर बनाने के साथ अपनी आदतों को बेहतर बनाइये।


Posted : a month ago

Talk Freely

Mood Board
Language