तनाव को दूर रख कैसे रहें प्रसन्न | VentAllOut blog

आज के दौर में तनाव के आम बात हो गई है। क्या बच्चे, क्या बूढ़े आज के दौर में हर किसी को किसी-न-किसी बात को लेकर तनाव रहता ही है। कभी-न-कभी हममें से ज्यादातर लोग मानसिक तनाव का शिकार होते ही होंगे। अगर दिमाग में टेंशन थोड़ी देर के लिए हो तो ठीक है, लेकिन यदि यह ज्यादा समय तक रहे तो भयंकर रूप ले लेता है। कभी-कभी तो यह कई रोगों का कारण भी बन जाता है। जब आप टेंशन या तनाव में होते हैं तो यकीन मानिए आपको पता चले या नहीं आपकी बॉडीलैंग्वेज से लोगों को जरूर पता चल जाता है। भावनात्मक अस्थिरता अर्थात अस्थिर मन होना भी तनाव के प्रमुख कारणों में से एक है। इन सब का असर जीवन में कुछ ऐसा होता है कि न तो किसी कार्य में मन लगता है न ही जीवन में ऊर्जा, शांति और उत्साह का ही अनुभव होता है। 

परिणामस्वरूप यदि आप स्टूडेंट लाइफ में हैं तो हर तरफ असफलता, यदि आप बिज़नेस मैन हैं तो हर तरफ हानि जैसी स्थितियां सामने दिखती हैं। तो ऐसे में क्या करें? कैसे, जीवन में फिर से तनाव या टेंशन को दूर कर शांति या बेहतरी का अनुभव कर, नई ऊंचाइयों को हांसिल करें। 

 

 असल में तनाव या टेंशन का मुख्य कारण किसी बात को लेकर बहुत ज्यादा सोचना या चिंता करना है। अर्थात यदि आप से कोई गलती हो गई; प्रेम में धोखा मिल गया, मनचाही जॉब नहीं मिली या किसी परीक्षा में असफल हो गये। तो ऐसे में आप उन कारणों के बारे में सोच सकते हैं कि आपका वह कार्य क्यों लक्ष्य तक नहीं पहुँच सका। न कि इस बात की चिंता करें कि 'मै असफल' हो गया। याद रखिये कि किसी फील्ड में कोई परफेक्ट नहीं हो सकता आप इंसान बनकर जीना सीखिए, न कि मिस्टर परफेक्ट। आप अपनी गलतियों से जब सिखने लगेंगे तो जीवन में नई राहें और सफलता आपको दिखाई देने लगेंगी। अनुमानतः ज्यादातर लोग कार्य पूर्ण होने के बाद ही चिंता करते हैं न कि प्रारंभ में, यह स्थिति बदलनी होगी। फिर भी यदि आप किसी कारण से तनाव या टेंशन में आते हैं तो Meditation एक बेहतर उपाय है इससे आपके दिमाग और शरीर को नयी ऊर्जा मिलती है।  ध्यान में आप रिलेक्स होकर आराम से बैठ जाइये सारी चिंता कुछ देर के लिए भूल जाइये अब अपनी आँखे बंद करिये। ऐसा कुछ देर तक करने से आप काफी तरोताजा महसूस करेंगे। कुछ ऐसे मित्र बनाकर रखिये जिनसे आप मन की हर बात कर सकें, जो आपका मनोबल बढ़ा सकें। सबसे बढ़िया उपाय अच्छी निद्रा है, जब आप शरीर के अनुसार अपनी नींद को पूरा करते हैं तो इससे शरीर में नई ऊर्जा तो उत्पन्न होती ही है साथ ही ताजगी का भी अनुभव होता है। यदि आप फिर भी तनाव से बाहर नहीं निकल पाते तो किस अच्छे साइकोलॉजिस्ट से भी सलाह ले सकते हैं। स्वस्थ रहिये और आखरी उम्मीद को जगाये रखिये।


Posted : 2 weeks ago

Talk Freely

Mood Board
Language