बच्चों को बड़े स्कूल में पढ़ाने की धारणा कहीं थोथी तो नहीं… Confession Automobile
@aniharsola
VPoints 1163
Supporters 9
Vent 350

बच्चों को निजी स्कूल में पढ़ाना आजकल आम धारणा बन चुकी है… गरीब से गरीब माता-पिता भी अपना पेट काटकर बच्चों को निजी स्कूल में पढ़ाना चाहते है।एक समय था जब ज्ञान और चरित्र फॉलो किए जाते थे… आज फॉलो करने का रूप बदल चुका है… इसका असर बच्चों की शिक्षा को भी प्रभावित कर रहा है। लेकिन यह कहा तक सही है कि हम बच्चों को किस दिशा में ले जा रहे हैं। आज अमूमन देखने में आता है कि… उनका बच्चा बड़े स्कूल में पढ़ता है… तो हमारा क्यों नहीं? अरे.. उनसे तो हमारी हैसियत अच्छी है… भला फिर ऐसा कैसे हो सकता है..? की उनका बच्चा प्राइवेट स्कूल में पढ़े …और हमारा सरकारी…?ये कहा तक सही है। हम बच्चों को ज्ञान कम और दिखावे की तरफ ज्यादा ले कर जा रहे है जो बहुत गलत है।

-30 Characters

What's your mood

Auto detect mood

Talk Freely

Mood Board
Language