रिश्तों को पहचानिये Relationship
@Dhirendra
VPoints 200
Supporters 4
Vent 60

जब हम अपने अच्छे दिनों में होते हैं तो अक्सर हमें केवल अपना ध्यान रहता है। किसी दूसरे की कोई बात हमारे लिये ज्यादा मायने नहीं रखती। हम हमेशा अपनी मस्ती में चूर होते हैं। लेकिन जब समय बदलता है,हमारे बुरे दिन स्टार्ट होते हैं तो हमें दूसरों से मदद की उम्मीद जागने लगती है। तब हमें पता चलता है कि सुख में सुमिरन करे सब दुख में करे न कोई । जो दुख में सुमिरन करें तो दुख काहे को होए।

-30 Characters

What's your mood

Auto detect mood
Mood Board
Language